Test Examine

गाँधी जी का राम राज्य एवं आदर्श राज्य क्या था ?

राम राज्य को आदर्श राज्य क्यों कहा गया है ? गाँधी जी ने प्लेटो के समान ही दो आदर्शों का वर्णन किया है- प्रथम पूर्ण आदर्श, जिसे वे ‘राम राज्य’ कहते हैं और द्वितीय, उप-आदर्श जिसे वे ‘अहिंसात्मक समाज‘ कहकर पुकारते हैं। उनके पूर्ण आदर्श सामाजिक व्यवस्था के अन्तर्गत राज्य के लिए कोई स्थान नहीं है। वे राज्यविहीन समाज की स्थापना करना चाहते थे। इसलिए उनके द्वारा व्यावहारिक दृष्टिकोण से उप-आदर्श की … Read more