Test Examine

Purvalokan Polity Topic- संविधान के अनुच्छेद PYQ MCQ Test 6

Subscribe YouTube Channel Subscribe Join Whatsapp Join Now Join Telegram Join Now Join Facebook Page Join Now Start पर क्लिक कर के Quiz को प्रारंभ करे  1. भारतीय संविधान में हैं- (a) 300 अनुच्छेद (c) 400 से अधिक अनुच्छेद (b) 350 अनुच्छेद (d) 500 अनुच्छेद  42nd B.P.S.C. (Pre) 1997 उत्तर-(c) भारतीय संविधान में 400 से अधिक अनुच्छेद (Articles) हैं। गणना की दृष्टि से वर्तमान में इनकी संख्या लगभग 465 पहुंच … Read more

संविधान सभा के महत्वपूर्ण प्रश्न PYQ MCQ in Hindi (Part 2) Test No.3

  Subscribe YouTube Channel Subscribe Join Whatsapp Join Now Join Telegram Join Now Join Facebook Page Join Now संविधान सभा के महत्वपूर्ण प्रश्न Test 1 के लिए Click Now Start पर क्लिक कर के Quiz को प्रारंभ करे 1. भारतीय संविधान को बनाने हेतु भारतीय संविधान सभा के कुल कितने अधिवेशन हुए थे? (a) 7 (b) 9 (c) 12 (d) 15 U.P.P.C.S. (Mains) 2005 उत्तर-(c) 2. भारत की संविधान सभा … Read more

Jainism Political Thought

 Jain Philosophy जैन धर्म दर्शन जैन एवं बौद्ध धर्म ऊपरी तौर पर धार्मिक आन्दोलन थे किन्तु उनके धार्मिक विचारों की तह में राजनीतिक चिन्तन सामाहित था। अहिंसा शांतिपूर्ण सहअस्तित्व, अपरिग्रह, समानता एवं सदाचार, मध्यममार्ग की अवधारणा, जाति प्रथा का विरोध, संघों की स्थापना जैसे विचार राजनीतिक चिन्तन की दृष्टि से आज भी प्रासंगिक हैं। जैन धर्म एवं राजनीतिक चिन्तन ईषा पूर्व छठीं शताब्दी की धार्मिक क्रान्ति में जैनधर्म ने विशेष योग … Read more

धर्मनिपेक्षता पर नेहरु के विचार 

नेहरू जी धार्मिक कट्टरता के घोर विरोधी थे। आत्मा एवं परमात्मा के सन्दर्भ में विचार करने का उनके पास वक्त ही नहीं था। वे हिन्दू परिवार में जन्म लेने के बाद भी हिन्दू धर्म के पचड़े से दूरी बनाये रखा। वे सर्वधर्म समानता पर बल देते थे। पं० नेहरू ने इतिहास का गहन अध्ययन किया था। वे इतिहास के विकासवादी सिद्धान्त में पूर्ण आस्था रखते थे। भारतीय इतिहास के अध्ययन के … Read more

गाँधी जी का राम राज्य एवं आदर्श राज्य क्या था ?

राम राज्य को आदर्श राज्य क्यों कहा गया है ? गाँधी जी ने प्लेटो के समान ही दो आदर्शों का वर्णन किया है- प्रथम पूर्ण आदर्श, जिसे वे ‘राम राज्य’ कहते हैं और द्वितीय, उप-आदर्श जिसे वे ‘अहिंसात्मक समाज‘ कहकर पुकारते हैं। उनके पूर्ण आदर्श सामाजिक व्यवस्था के अन्तर्गत राज्य के लिए कोई स्थान नहीं है। वे राज्यविहीन समाज की स्थापना करना चाहते थे। इसलिए उनके द्वारा व्यावहारिक दृष्टिकोण से उप-आदर्श की … Read more

गाँधी जी के राजनैतिक विचार

Mahatma Gandhi Ji  के राजनीतिक विचारों को गाँधीवाद की संज्ञा दी जाती है। गांधीवाद क्या है, इसकी सार्थकता कहाँ तक है इसके मूल तत्त्व क्या हैं आदि प्रश्नों का उत्तर Gandhi ji स्वयं देते हुए कहा है-“गाँधीवादी विचारधारा के नाम से कोई दर्शन नहीं है ना ही मैं अपने पीछे कोई वाद छोड़ना चाहता हूँ। मैं यह दावा नहीं करता कि मैंने किसी नये विचार अथवा सिद्धान्त का प्रतिपादन किया … Read more

Thought of Gandhism and Marxism

Gandhism and Marxism stand for the political philosophies of Mahatma Gandhi and Karl Marx (1818-83) respectively. Marx was a nineteenth-century German philosopher; Gandhi was a twentienth-century Indian philosopher. Both Gandhi and Marx were deeply concerned with the plight of the down-trodden. Both anticipated the emergence of a classless and stateless society for the emancipation of mankind. It is sometimes believed that their philosophies were akin to each other. But on … Read more

Sri Aurobindo Ghosh Nationalism in Hindi

अरबिंदो घोष का परिचय  15 अगस्त 1872 कलकत्ता राज्य में अरबिंदो घोष का जन्म हुआ था | अरबिंदो घोष एक ,योगी ,दार्शनिक, राष्ट्रवादी एवं कवि थे | इनकी शिक्षा दार्जलिंग के एक क्रिस्चियन कान्वेंट स्कूल से हुई थी | उन्होंने कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में प्रवेश लिया, जहाँ वे दो शास्त्रीय और कई आधुनिक यूरोपीय भाषाओं में कुशल हो गए।वर्ष 1892 में उन्होंने बड़ौदा (वडोदरा) और कलकत्ता (कोलकाता) में विभिन्न प्रशासनिक पदों पर कार्य … Read more

Ancient Indian Political Thought and Dharma

Ancient Indian political thought is popularly known as Hindu political thought. Hindu political thought is beginnings from the Vedic time period second millennium BC. Major tenets of Hindu political thought originate from the ancient concept of Rta or cosmic order . it implies the harmony that underlies all object of the universe . It is different from man made law which can be created and altered at will. in other … Read more